Tuesday, August 15, 2006

आज से राष्‍ट्र भाषा का प्रयोग शुरु कर रहा हूं । आशा है अनूप या उसकी हिन्‍दी सेवी गोल के यार- दोस्‍त इस सफर को कुछ और सुहाना बनाने मेँ साथ निभायेँगे ।

1 comment:

अनूप शुक्ला said...

अरे वाह! भाई अफलातून जी बढ़िया किये कि हिंदी में शुरू हो गये। आपका खाता नारद में भी खुल गया है। वहाँ आपकी पोस्ट जब होगी दिखेगी।तथा आप दूसरे हिंदी के पोस्ट देख पायेंगे। हम बहुत दिन से अपना रेडिफ मेल वाला मेल देखे नहीं । आज देखते हैं। जवाब देते हैं। हमारे सारे साथी हर सहयोग के लिये तैयार हैं।